गैज़ेट्स के बिना कैसे रखें घर को ठंडा

गर्मियों में लाइट का आना-जाना अपने-आप में किसी खेल सरीखा लगता है। ऐसे में इलेक्ट्रॉनिक गैज़ेट्स के बिना अपने घर को ठंडा कैसे रखें, आइए इसी बारे में कुछ जानें।

बढ़ती गर्मी के दिनों में एयर कंडीश्नर का अधिक उपयोग न सिर्फ हमारे बिजली के बिलों को बढ़ा रहा है, बल्कि मौसम को और गर्म करने का काम भी करता है, जो हमारे वातावरण के लिए बहुत घातक साबित होता है। यदि हम प्राकृतिक तरीकों से अपने घर को ठंडा रखने का प्रयास करें तो यह न सिर्फ हमारे बिजली के बिल को बचाएगा, बल्कि वातावरण को भी ठीक रखने में मदद करेगा। सिटीस्पाइडी में आज हम आपको ऐसे ही कुछ उपयोगी टिप्स दे रहे हैं, जो आपके घर को बिना बिजली के भी ठंडा रखने में मदद करेंगे।

गहरे रंग के पर्दों का प्रयोग

गर्मियों के दिनों में सूर्य की सीधी किरणें जब खिड़कियों के रास्ते घर में प्रवेश करती हैं तो यहघर का तापमान यकायक बढ़ा देती हैं। यदि हम गहरे रंग के पर्दों का उपयोग करें तो सूर्य की रौशनी को घर में आने से रोका जा सकता है। खासतौर पर उस समय, जब सूर्य अपनी प्रचंडता लिए होता है। डिपार्टमेंट ऑफ एनर्जी के अनुसार, यदि हम डॉर्क कलर के पर्दों के साथ सफेद रंग की प्लास्टिक का भी उपयोग करें तो ये कमरे का तापमान और भी कम करने में सहायक हो सकती हैं।

पानी का इस्तेमाल

ठंडे पानी से भरी एक बाल्टी रखें और उसमें पर्दों के सिरों को डुबोएं और पंखा चालू कर दें। कपड़े से पानी धीरे-धीरे ऊपर की ओर फैलने लगेगा और हवा पूरे कमरे को ठंडक पहुंचाएगी। रूम कूलिंग के लिए यह एक प्रभावी तरीका है।

ठंडे पानी के लिए मिट्टी के बर्तन का प्रयोग

गर्मियों में ठंडे पानी के लिए मिट्टी के बर्तनों का उपयोग सबसे प्राकृतिक तरीकों में से एक है। मिट्टी के बर्तन में रखा पानी छोटे-छोटे छिद्रों से रिसता है और मिट्टी के बर्तन की सतह से वाष्पित होता रहता है और इसी वाष्पीकरण के कारण बर्तन के अंदर के पानी का तापमान कम हो जाता है।

फर्श पर सोना

गर्म हवा के ऊपर उठने के सिद्धांत के कारण ऊष्मा हमेशा नीचे से ऊपर की ओर होती है। अगर संभव हो तो अपने घर के फ़र्श को ठंडे पानी से धो लें और सोने के लिए बिस्तर बेड की जगह ऐसे ही फ़र्श पर लगाकर आराम करें। यदि आपके घर का फ़र्श टाइल्स का बना हुआ है तो ये अधिक ठंडी लगेंगी और आपको आरामदायक नींद आएगी। इसका आपको दुगुना लाभ मिलेगा, क्योंकि माना जाता है कि कठोर सतह पर सोने से पीठ के दर्द से जुड़ी समस्याओं में भी आराम मिलता है।

खिड़की के पास हरे पत्तेदार पौधे लगाना

खिड़की के पास हरे पत्तेदार पौधे लगाने से कमरे में आने वाली सूरज की रौशनी की गर्मी को ये पौधे अवशोषित कर लेते हैं और कमरे को ठंडा करने में मदद करते हैं। ऐसा करने से कमरे के अंदर हरियाली बढ़ेगी और बाहर कुछ हद तक ग्लोबल वॉर्मिंग को कम करने में मदद मिलेगी।

ट्यूबलाइट्स और फ्लोरोसेंट बल्बों को एलईडी में बदलें

जितना हो सके, कोशिश करें कि दिन में बल्ब या ट्यूबलाइट्स का प्रयोग न करें और रात में भी जिस कमरे में लाइट की ज़रूरत न हो, वहां की सभी लाइट्स बंद कर दें। इसके इलावा सामान्य बल्ब के स्थान पर एलईडी का प्रयोग करें। सामान्य बल्ब अन्य इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों के स्थान पर अधिक गर्मी उत्पन्न करते हैं। एलईडी का प्रयोग न सिर्फ कमरे के तापमान को कम करता है, बल्कि बिजली के बिल में कटौती करके जेब को भी फ़ायदा पहुंचाता है।

रात में खिड़कियां खोलना

रात के समय प्राकृतिक ठंडी हवा एक वरदान की तरह है, इसलिए जहां तक संभव हो, रात को खिड़कियां खोल दें और ठंडी हवा को घर में आने दें। अगर संभव हो तो घर में क्रॉस वेंटिलेशन की पूरी व्यवस्था करें। कमरे में ठंडे पानी का पोंछा लगाना भी कमरे को ठंडा करने में आपकी मदद करेगा।